भोपालमध्यप्रदेश

शुक्र तारा उदित कल से फिर गूंजेगी शहनाई, बैंड-बाजा और बारात का शोर

भोपाल

पिछले तकरीबन साढ़े चार माह से विवाह कार्यों पर लगा विराम खत्म हो जाएगा और शुक्रवार से शहर में एक बार फिर जगह-जगह बैंड, बाजा, बारात का नजारा दिखाई देगा। विवाह मुहूर्तों के लिए गुरु और शुक्र का उदित होना जरूरी माना गया है। अब तक शुक्र अस्त के कारण विवाह मुहूर्त शुरू नहीं हो पाए थे। अब शुक्र तारा उदित हो चुका है ,इसके बाद 25 नवम्बर से शहनाई की गूंज सुनाई देने लगेगी। इस साल नवम्बर में 3 दिन तो दिसम्बर में 6 दिन लग्न मुहूर्त रहेंगे। नवंबर- 25, 26 और 27, दिसम्बर- 2,3,4,7,8 और 15 को विवाह मुहूर्त है।  इधर विवाह मुहूर्त शुरू होने के बाद 15 दिसम्बर से 15 जनवरी तक विवाह कार्यों पर एक माह का विराम लगेगा। धनु की संक्रांति के कारण विवाह कार्य नहीं होंगे।

2 महीने में 3 हजार शादियां होंगी
पंडितों के अनुसार जब सूर्य धनु राशि में होते हैं, उस दौरान विवाह कार्य नहीं किए जाते हैं। 15 जनवरी से सूर्य का मकर राशि में प्रवेश होगा, इसी के साथ विवाह कार्यों की शरुआत हो जाएगी। नवम्बर और दिसम्बर माह में जमकर शादियां होगी। नवम्बर में 3 दिन और दिसम्बर में 6 दिन मुहूर्त है, इस दौरान शहर में तकरीबन 3 हजार शादियां होने की उम्मीद है।  नवम्बर दिसम्बर माह में तकरीबन हर शादी हाल, मैरिज गार्डन सहित जरूरी सामग्री की बुकिंग हो चुकी है।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close